WAZU SE PAHLE AUR BAAD KI DUA

Must read

Wazu se pahle aur baad ki dua हमारे आज की इस पोस्ट का टॉपिक है.

आज कि इस पोस्ट में हम वजू से पहले और बाद की दुआ को जानेंगे; और साथ ही साथ कुछ जरूरी बातें भी जानेंगे.

दोस्तों वज़ु करना इतना जरूरी है; की आप इस बात से अंदाजा लगा लीजिए; कि बिना वज़ु के ना कोई नमाज़ कबूल है, और ना ही कोई तिलावत.

वजू से हम पाक साफ तो होते ही हैं; लेकिन साथ ही साथ हम आखरत के लिए भी पाक साफ हो जाते हैं.

Wazu se pahle aur baad ki dua

दोस्तों Wazu se pahle aur baad ki dua in hindi जानने से पहले।

हम आपको यह बताना चाहते हैं; कि वजू में अलग-अलग जगहों पर दुआएं पढ़ी जाती हैं. जैसे-

  1. हाथ धोते वक्त की दुआ।
  2. नाक साफ करते वक्त की दुआ।
  3. पैर धोते वक्त की दुआ। ऐसे ही और कई दुआएं।

लेकिन दोस्तों आज कि इस पोस्ट में हम wazu se pahle aur baad ki dua in hindi को ही जानेंगे; क्योंकि हम लोगों ने वजू के दरमियान की तमाम दुआएं से पहले पोस्ट में बताई है.

अगर आपको तमाम दुआएं जानने हैं तो आप नीचे दिए हुए लिंक पर क्लिक करके जान सकते हैं.

ये भी पढ़ें:-

तो चलिए दोस्तों शुरू करते हैं, अपने आज की पोस्ट Wazu se pahle aur baad ki dua.

सबसे पहले तो आप को वज़ु करने से पहले बिस्मिल्लाह पढ़ना है; और उसके बाद आप वज़ु से पहले की दुआ पढ़ेंगे.

Note – दोस्तों हमने आपको अपनी पुरानी पोस्टों में भी बताया है; की किसी भी आयत को या दुआओं को हमेशा अरबी अल्फाज में पड़ने चाहिए.

इसका बहुत सवाब होता है; क्योंकि सभी आयतें और दुआएं अरबी अल्फाज में ही नाजिल हुई थी। ऐसे में हम सबको अरबी पढ़ना आनी चाहिए.

Wazu se pahle ki dua in hindi

वजू से पहले की दुआ हमने आपको हिंदी में इसलिए बताया है; क्योंकि हम भारतीय लोग ज्यादातर हिंदी और उर्दू ही बोला करते हैं.

ऐसे में हिंदी में किसी चीज को याद करना हमारे लिए काफी आसान होता है. यही एक वजह है; कि इस तरह से हम हिंदी में आपको दुआएं बताते हैं।

नवैयतु अन अ त वद्दा-अ लिल्लाहि त’आला”

इस दुआ को पढ़ने के बाद आप अपना वज़ु शुरू कर सकते हैं। याद रहे बिस्मिल्लाह पढ़ना जरूरी है; बिना बिस्मिल्लाह के वजू नहीं होगा।

Wazu se pahle ki dua in English

” Nawaytu An Atawadda-a Lillahi Ta’ala”

ये थी वज़ु से पहले की दुआ (Wazu karne se pahle ki dua). अब हम बात करते हैं; वज़ु करने के बाद की दुआ की। (Wazu karne ke baad ki dua)

Wazu ke baad ki dua in hindi

जब आप अपना वजू मुकम्मल तौर पर सही तरीके से कर लेंगे तब आपको आसमान की ओर देख कर के; नीचे बताई हुई दुआ को एक मर्तबा पढ़ना है।

” अल्लाहुम्मज अलनी मिनत तव्वाबीन वज अलनी मीनल मुततातह्हिरिन।”

वज़ु करने के बाद आप इस दुआ को पढ़ ले, आपको बता दें की इसके अलावा भी एक दुआ है।

जिसको वजू के बाद पढ़ी जाती है,, तो हम आपको वह भी बता देते हैं; आपको जो आसान लगे आप वह याद कर ले और उसे वज़ु के बाद पढ़ लिया करें।

” अश-हदु अल्लाह इल्लाह इल्लल्लाहु वह दाउ
ला अरब-क लहू व अशदुहु अन्न मुहम्मदन अब्दुहु वरसुलुहु।”

ये भी पढ़ें:-

और यह थी हमारी Wazu ke baad ki dua in hindi में।

Wazu ki dua in hindi (Wazu se pahle aur baad ki dua in hindi)

हमने आपको ऊपर ही बताया कि वज़ु में अलग-अलग जगहों पर अलग-अलग दुआएं पढ़ी जाती है।

हम आपको इस पोस्ट के आखिर में वह कौन-कौन सी दुआएं हैं; और किन जगहों पर पढ़ी जाती है; इसकी मालूमात दे देते हैं।

जिससे आपको भी यह इल्म हो जाए कि वज़ु के दरमियान कब कौन सी दुआएं पढ़ी जाती हैं।

  • कुल्ली करते दुआ पढ़ी जाती है।
  • नाक में पानी डालते वक्त पढ़ी जाती है।
  • मुंह धोते वक्त पढ़ी जाती है।
  • दाहिना हाथ धोते वक्त पढ़ी जाती है।
  • बाया हाथ धोते वक्त पढ़ी जाती है।
  • सर का मसह करते वक्त पढ़ी जाती है।
  • कानों का मसह करते वक्त पढ़ी जाती है।
  • गर्दन का मसह करते वक्त पढ़ी जाती है।
  • सीधा पांव धोते वक्त पढ़ी जाती है।
  • उल्टा पांव धोते वक्त पढ़ी जाती है।

Eid milad un nabi ki namaz ka tarika

तो इन जगहों पर हम दुआएं पढ़ते हैं; जिसका बहुत सवाब मिलता है।

अगर आप लोगों को इन दुआओं के बारे में जानना है; तो हमने ऊपर लिंक भी दी हुई है आप उसे पढ़ सकते हैं, और जानकारी ले सकते हैं।

दोस्तों आपको एक बात बताना चाहेंगे, कि अगर आपको वज़ु के दरमियान की दुआएं याद नहीं होती है; किसी कारण की वजह से।

तो आप इस वक्त दरूद शरीफ का विर्द करते रहे इसका भी सवाब बहुत ज्यादा है।

Wazu mein darood sharif padhna (Wazu se pahle aur baad ki dua in hindi)

यूं तो हर मुसलमान को हर वक्त (जितना ज्यादा हो सके) दरूद शरीफ की तिलावत करते रहना चाहिए।

इससे दिल साफ होता है, और चेहरे पर नूर आता है; साथ ही साथ दरू शरीफ पढ़ कर के कोई दुआ मांगे तो वह दुआ रद्द नहीं होती है.

अल्लाहुम्मा सल्ले अला

मुहम्मदिव व अला आलि मुहम्मदिन

कमा सललेता अला इब्राहिम

व अला आलि इब्राहिम इन्नक हमीदुम मजीद

अल्लाहुम्मा बारिक अला मुहम्मदिव व अला आलि मुहम्मदिन

कमा बारकता अला इब्राहिम व अला आलि इब्राहिम इन्नक हमीदुम मजीद”

Ye bhi padhe.

  1. Wazu banane ka sahi tarika
  2. Namaz ki niyat in hindi.
  3. Azan ke waqt kya karna chahiye aur kya nahi?
  4. Surah muzammil in hindi
  5. Eid milad un nabi ke din kya karna chahiye

लगातार पूछे जाने वाले सवाल (FAQs)

जी हाँ ! वजू से पहले वजू से पहले की दुआ पढ़ना जरूरी है। हां अगर आपको यह दुआ याद ना हो तो आप बिस्मिल्लाह पढ़ सकते हैं।

आपको बता दें बिस्मिल्लाह पढ़ना जरूरी है, बिना बिस्मिल्लाह के आपका वजू नहीं माना जाएगा।

हाँ ! वजू के बाद की दुआ भी पढ़ना बेहद जरूरी है; वजू के बाद की दुआ तो दूसरा कलमा (शहादत) है।

तो यह तो सभी को याद होगा तो आप इसे जरूर पढ़ें। इससे आपको कलमा का भी सवाब मिलेगा और वज़ु का भी सवाब मिलेगा।

बेशक ! वजू बनाना जरूरी है आप नमाज पढ़ने से पहले या कुरान की तिलावत करने से पहले वधू जरूर बनाएं।

वज़ु के बिना नमाज पूरी नहीं होती है, और ना ही आपकी तिलावतें कबूल होती हैं, और इससे गुनाह भी मिलता है।

हां ! बिल्कुल आप पानी पी सकते हैं।

हरगीस नहीं ! यह वज़ु की मकरूहात है, इसे ना किया जाए तो अच्छा है.

Conclusion (नतीजा)

तो दोस्तों यह थी हमारी आज की पोस्ट (Wazu se pahle aur baad ki dua in hindi) जिसमें हमने काफी चीजें जानी.

हमने आपको तमाम जानकारी आसान लफ्जों में बताने की कोशिश की है, उम्मीद है; आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई होगी।

अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई है; तो आप अपने तमाम दोस्तों और परिवार वालों के साथ इसे शेयर जरूर करें।

ऐसे ही इस्लाम और इस्लाम से जुड़ी तमाम जानकारियां पाने के लिए आप हमें बुकमार्क कर लें; और इस पोस्ट को अपने सोशल मीडिया पर शेयर जरूर करें।

अल्लाह हाफिज !!!

Quransays.in

पिछला लेखWazu karne ki dua in hindi.
अगला लेखNamaz ki sharte in hindi
- Advertisement -spot_img

More articles

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article