Surah kahf ki fazilat – Jumme ke din surah al kahf ke benefits

Must read

Surah kahf ki fazilat हर सच्चे मुस्लमान को पता होनी चाहिए; क्योंकि इस सुरह को पढ़ने का हुकुम हमें हमारे नबी सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम ने दिया.

सुरह कहफ एक ऐसी सुरह है, जिसके बारे में ज्यादातर मुसलमानों को नहीं पता होता है; जिससे वह इस सुरह की फजीलत और अहमियत को नहीं जानते या समझते.

लेकिन आपको बता दें इस सुरह को पढ़ने से लोगों की बिगडि बन जाती है, यूँ तो surah kahf ki fazilat बहुत ज्यादी है; जिसे हम पूरा बयान नहीं कर सकते लेकिन इसकी चंद फज़ीलतें आपको बता देते हैं.

तो चलिए शुरू करते हैं… जानें वज़ु किन चीजों से टूट जाता है…

Surah al kahf (suratul kahf)

सुरह कहफ कुरान मजीद की बडी सुरह है, जिसे सुरतुल कहफ़ के नाम से भी जाना जाता है; इस सुरह में कूल 110 आयतें हैं.

Surah kahf की तिलावत यूं तो हमें जब मौका मिले तब कर लेना चाहिए; लेकिन आपको बता दें आम तौर पर लोग इसे जुम्मे के दिन पढ़ते हैं.

Jume ke din surah juma jarur padhen…

Surah kahf ki fazilat का आप इस बात से भी अंदाजा लगा सकते हैं; कि इस सुरा को पढ़ने से रिज़्क्, गुनाह की माफ़ी और माल में बरकत जैसी तमाम चीजें आपको मिल जाती है.

और जब इस सूरह को जुम्मे के दिन पढ़ा जाए तो चार चांद लग जाते हैं, इसकी फजीलत में।

एक तो जुमे की फजीलत ऊपर से इस सुरह को पढ़ने की फजीलत दोनों आपको एक साथ मिलती है; तो चलिए अब हम जान लेते हैं jumme ke din surah al kahf ke benefits.

Jumme ke din surah al kahf ke benefits

एक हदीस में आया है कि हुजूर मोहम्मद मुस्तफा सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम ने इरशाद फरमाया; जो कोई शख्स जुम्मे के दिन सुरह कहफ पढेगा उसे दो जुम्मे के दरमियान में अल्लाह उसके लिए नूर को रोशन कर देता है.

बाज़ दफा कई लोगों का यह भी सवाल होता है, कि जुम्मे के दिन सुरह कहफ पूरी पढ़ें; या सुरह कहफ की शुरुआती 10 आयतें पढ़ लें.

तो आपको बता दें हमारे नबी सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम ने हमें पूरी सुरह पढ़ने का हुक्म दिया है; हां कई हदिसों में आया है कि अगर आप पूरी सुरह नहीं पढ़ सकते तो शुरुआती 10 आयात तो जरूर पढ़ें.

दज्जाल के फितने से महफ़ूज़ (Surah kahf ki fazilat)

इस सूरह को पूरा पढ़ने की फजीलत तो है ही बहुत लेकिन सिर्फ शुरूआती 10 आयतें को भी अगर कोई; शख्स पढ़ लेता है, तो वह शख्स दज्जाल के फितने से महफूज रहेगा.

गुनाह माफ़ हो जाते हैं (juma ke din surah al kahf ke benefits)

अगर आप जुम्मे के दिन या जुम्मे की रात में सूरह कहफ़ की तिलावत करते हैं; तो अल्लाह अल्लाह सुभानवतआला एक जुम्मे से दूसरे जुम्मे के दरमियान में आपके तमाम गुनाहों को माफ कर देता है.

रिज़्क् और माल में बरकत (Jumme ke din surah al kahf ke benefits)

कोई शख्स जुम्मे के दिन सही से सूरतुल कहफ़ की तिलावत करेगा; तो अल्लाह उसके रिज़्क् और माल में बरकत अता फरमाएगा.

हुजूर इसकी तिलावत किया करते थे (Surah kahf ki fazilat)

कई हादसों में यह आया है कि हुजूर ए पाक सल्लल्लाहू अलेही वसल्लम सुरह कहफ की तिलावत रोजाना किया करते थे; और उन्होंने अपनी उम्मत से यानी हमें जुम्मे के दिन इस सुरह की तिलावत करने का हुक्म दिया.

आज आपने क्या जाना (conclusion)

दोस्तों सुरह कहफ एक बहुत ही अजीम ओ शान सुरह है, सूरा की फजीलत बहुत ज्यादा है; जो कि हमने आपको बता दि है, उम्मीद है, आपको सही तरीके से समझ में आया होगा.

दोस्तों इस सूरह की फजीलत तो कई किस्मों की है, लेकिन मेन जो फजीलत इस सुरह से हमें मालूम पड़ती है, वह यह है; कि इस सुरह को पढ़ने से हम दज्जाल के फितने से महफूज रहते हैं जो की बहुत बड़ी फजीलत है.

आपको एक बात जानकर हैरानी होगी कि दज्जाल का फितना वह फितना है; जिस फितने से दुनिया में आए तमाम नबियों ने अपनी उम्मत को डराया है.

तो इन चीजों से हमें मालूम पड़ता है कि Surah kahf कितनी अज़मत वाली सुरह है; इसलिए हमें इस सुरह को जुमे के दिन जरूर पढ़ना चाहिए.

आज के लिए बस इतना ही मिलते हैं, आपसे अगली पोस्ट में तब तक के लिए अल्लाह हाफिज !!!

Quransays.in

- Advertisement -spot_img

More articles

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article