SURAH AL FATIHA IN HINDI TRANSLATION

Must read

Surah fatiha in hindi आज कि हमारे पोस्ट का टॉपिक है जिसमें हम surah fatiha ka tarjuma; और surah fatiha ki fazilat भी जानेंगे.

दोस्तों सूरह फातिहा कुरान मजीद की बेहद ही अफजल सूरह है और यह कुरान मजीद की पहली सूरह भी है; यानी इसका मर्तबा बहुत बडा है, इसलिए हर मुसलमान को इसे पढ़ना और समझना जरूरी है.

इस सुरह को पढ़ने से सारी परेशानियां दूर हो जाती है…

दोस्तों सूरह फातिहा तो हमें बचपन से ही रटा दिया जाता है; लेकिन इसकी अहमियत और इसका तर्जुमा हमें नहीं बताया जाता और ना ही इसकी फजीलत बताई जाती है.

तो ऐसे में लोग सूरह फातिहा को कम आंक लेते हैं, हालांकि इसकी काफी ज्यादा फजीलत है; जो हम आपको आगे टॉपिक में बताएंगे.

इन्हीं चंद मसलों पर मद्देनजर रखते हुए हम आज आप के दरमियान में surah fatiha in hindi लेकर आए हैं.

तो चलिए शुरू करते हैं…

Surah al fatiha hindi mein (sooratul fatiha)

1. Surah al fatiha मक्का शहर में नाजिल हुई इसलिए इसे हम मक्की सुरह भी कहते हैं.
2. सूरह फातिहा में कुल 7 आते हैं.
3. यह सुरह नबी ए करीम सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम पर नाजिल हुई.
4. यह कुरान मजीद की सबसे अफजल सुरतों में से एक है, जिसकी फजीलत बेशुमार है.
Surah fatiha in hindi

Ye bhi padhe…

Surah fatiha in arabic (अरबी)

بِسْمِ ٱللَّهِ ٱلرَّحْمَٰنِ ٱلرَّحِيمِ

  • ٱلْحَمْدُ لِلَّٰهِ رَبِّ ٱلْعَالَمِينَ
  • ٱلرَّحْمَٰنِ ٱلرَّحِيمِ
  • مَالِكِ يَوْمِ ٱلدِّينِ
  • إِيَّاكَ نَعْبُدُ وَإِيَّاكَ نَسْتَعِينُ
  • ٱهْدِنَا ٱلصِّرَاطَ ٱلْمُسْتَقِيمَ
  • صِرَاطَ الَّذِينَ أَنعَمتَ عَلَيهِمْ غَيرِ المَغضُوبِ عَلَيهِمْ وَلاَ الضَّالِّينَ

सुरह यासीन हिन्दी में.

Surah fatiha in hindi (हिन्दी)

  1. अल्हम्दुलिल्लहि रब्बिल आलमीन.
  2. अर रहमा निर रहीम.
  3. मालिकि यौमिद्दीन.
  4. इय्याक न अबुदु व इय्याका नस्तईन.
  5. इहदिनस् सिरातल मुस्तक़ीम.
  6. सिरातल लज़ीना अन अमता अलय हिम.
  7. गैरिल मग़दूबी अलय हिम् व लद दाालीन. आमीन !

Surah fatiha in hindi pdf download

दोस्तों हमारी नीचे दी हुई लिंक के जरिए आप सूरह फातिहा की पीडीएफ को डाउनलोड कर सकते हैं; वह भी बिल्कुल फ्री में जिसकी मदद से आप इसे जब चाहे और जहां चाहे पढ़ सकते हैं.

Surah fatiha in english (अँग्रेजी)

  1. Alhamdulillah hi Rabbil aalameen.
  2. Ar rahma nir rahim.
  3. Maliki yaumiddin.
  4. Iya kana budu wa Iya ka nastaieen.
  5. Ihdinas siratal mustakeem.
  6. Siratal lazina an amta alaihim.
  7. Gairil magzubi alaihim wa lad dauleen. Ameen !

Surah fatiha translation in hindi (surah fatiha ka tarjuma)

सुरह – अल्हम्दुलिल्लहि रब्बिल आलमीन.

तर्जुमातमाम तारीफें सिर्फ अल्लाह ही के लिए है, जो सारे जहां के मालिक और बादशाह हैं.

सुरह – अर रहमा निर रहीम.

तर्जुमाजो (अल्लाह) बड़ा मेहरबान और निहायत रहम / करम करने वाला है.

सुरह – मालिकि यौमिद्दीन.

तर्जुमाऔर वह इन्साफ के दिन का हकीम यानी मालिक है.

सुरह – इय्याक न अबुदु व इय्याका नस्तईन.

तर्जुमाअए मेरे परवरदिगार (अल्लाह) हम तेरी ही इबादत करते हैं, और तुझी से मदद मांगते हैं.

सुरह – इहदिनस् सिरातल मुस्तक़ीम.

तर्जुमाहमको नेक और सीधे रास्ते पर चला.

सुरह – सिरातल लज़ीना अन अमता अलय हिम.

तर्जुमाउन लोगों के रास्ते चला जिनपर तू अपना फज़ल और करम फरमाता रहता है.

सुरह – गैरिल मग़दूबी अलय हिम् व लद दाालीन. आमीन !

तर्जुमाना कि उनपर जिनपर तू गुस्से होता रहा और ना ही उन लोगों के जो भटके हुए हैं.

Surah fatiha ki fazilat (surah fatiha padhne ke fayde)

आपको बता दें surah fatiha ki fazilat बेशुमार है, जिसे हम पूरा बयां नहीं कर सकते; हां लेकिन चंद मोटे – मोटे फजीलत हम आपके सामने पेश कर देते हैं, जिससे आपको इसकी अहमियत और मर्तबे का अंदाजा हो जाएगा.

सूरह फातिहा एक दुआ है, जिसे कुरान मजीद में सबसे पहले रखा गया जिसमें हम अपने अल्लाह की तारीफें बयान करते हैं; और कुरान मजीद पढ़ना शुरू करते हैं.

Ye bhi padhe…

Surah al fatiha ki fazilat in hindi

बीमारी से शिफा – सूरह फातिहा की ऐसी की रहमत और बरकत वाली सुरा है जिसे पढ़कर अपने जिस्म पेट कम करने से तमाम बीमारियां दूर हो जाती हैं.

ऐसे में अगर आप किसी ऐसे मर्ज़ में मुब्ततला हैं जिससे आपको शिफा नहीं मिल रही; तो आप सूरह फातिहा का ज़्यादा से ज्यादा विर्द करें.

जहर का असर खत्म करने के लिए – एक हदीस शरीफ में आया है; कि सुरह फाातिह को दम करके घांव पर डालने से जहर का असर खत्म हो जाता है.

दौलत में बरकत होती है – surah fatiha ki fazilat में सबसे बड़ी फज़ीलतों मे से एक य़ह है; कि जो शख्स अपने माल और दौलत में बरकत चाहता है, तो वह सुरह फातिहा पढ़ें.

Kya islam mein muhabbat karna jaiz hai.

Surah fatiha kab padhen

1 – एक तो हम अपनी पांचो वक्त की नमाज़ में सुरह फातिहा पढ़ते हैं.
2 – जब किसी किस्म की तकलीफ या बीमारी हो तब इस सुरह को पढ़ें.
3 – चूंकि इस सुरह में अल्हम्दुलिल्लहि अल्फाज़ आता है, जिसका मतलब होता है, शुक्र अदा करना इसलिए; आपके साथ जब भी कुछ अच्छा हो तब आप अल्हम्दुलिल्लाह पढें.
4 – तस्बीह पढते वक्त सुरह फातिहा को पढें इसका बहुत सवाब है.
Surah fatiha in hindi

Surah fatiha ki hadees

1 – एक हदीस शरीफ में आया है, कि हुजूरे पाक सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम ने फरमाया; की कुरान मजीद की तमाम सुरतों में जो सबसे अजीम ओ शान सूरत है, वह सूरह फातिहा है.

2 – हुजूर सल्लल्लाहो अलैहि वसल्लम ने फरमाया कि अल्लाह का इरशाद है; की सूरह फातिहा मेरे और मेरे बंदों के बीच में दो हिस्सों में बटी हुई है.

जिसमें आधी मेरे लिए (अल्लाह सुभानवतआला) और आधी मेरे बंदे के लिए; और जो बंदा सूरह फातिहा पढ़कर जो कुछ भी मांगता है, अल्लाह उसे वह दे देता है.

3 – एक हदीस शरीफ में है, कि सुरह फातिहा सबसे अफजल सुरह है; जो कुरान मजीद के अलावा किसी और आसमानी किताबों में नाज़ील नहीं हुई.

FAQ’s (लगातर पूछे जाने वाले सवाल)

सूरह फातिहा कुरान मजीद की पहले पारे में मौजूद है, और यह कुरान ए पाक की पहली सुरह है.

सूरह फातिहा में कुल 7 आयतें हैं.

Conclusion (नतीजा)

तो दोस्तो यह थी हमारी आज की पोस्ट इसमें हमने आपको surah fatiha in hindi, Surah fatiha ka tarjuma; surah fatiha ki fazilat को आसान लफ्जो में बयान किया है.

इस पोस्ट में हमने आपको सुरह अल फातिहा से जुड़ी और भी कुछ अहम बातें बताई हैं; जिनका जानना हर मुसलमान को जरूरी है.

तो उम्मीद करते हैं, आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई होगी, अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो; तो आप इस पोस्ट को अपने व्हाट्सएप, फेसबुक पर शेयर जरूर करें.

Note – अगर आपके कुछ सवाल है या कोई सुझाव है तो आप हमें कमेंट में जरूर बताएं.

ऐसे ही लगातार इस्लाम से जुड़ी जानकारी पाने के लिए हमें बुकमार्क कर लें और इस पोस्ट को शेयर करें.

तो आज के लिए बस इतना ही मिलते हैं, आप से अगली नई पोस्ट में तब तक के लिए अल्लाह हाफिज !!!

Quransays.in

- Advertisement -spot_img

More articles

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article