Quran padhne se pehle ki dua

Must read

Quran padhne se pehle ki dua जानना आपके लिए बहुत जरूरी है ताकि आपको कुरान पढ़ने में कोई तकलीफ (रुकावट) ना हो और ना ही शैतान आपको बहकाए कुरान न पढ़ने के लिए; और साथ ही साथ आपको ज्यादा सवाब मिले कुरान पढ़ने का भी और दुआ पढ़ने का भी.

आपको बता दें कि जो शख्स कुरान पढ़ने से पहले quran padhne se pahle ki dua पढ़ता है अल्लाह को वो बंदा काफी प्यारा होता है; और अल्लाह की बरकत और रहमत उसपर होती है, और इससे आपका ईमान भी मजबूत होता है क्यूंकि इसमे आपको गवाही देनी होती है आपने ईमान की….. 

तो चलिए कुरान पढ़ने से पहले की दुआ जान लेते हैं…. 

Quran padhne se pehle ki dua

कुरान पढ़ने से पहले की दुआ हम आपको बताने जा रहे हैं, और हम अरबी, हिन्दी, इंग्लिश और हिंदी translation सबमें इस दुआ को जानने वाले हैं; एक-एक करके हम इस दुआ को जानेंगे, जिससे आपको इस दुआ की पूरी जानकारी हो जाए… 

Quran padhne se pehle ki dua in arabic text (अरबी)

Quran padhne se pehle ki dua in arabic:- “اللَّهُمَّ إِنِّي أَشْهَدُ أَنَّ هَذَا كِتَابُكَ الْمُنْزَلُ مِنْ عِنْدِكَ عَلَى رَسُولِكَ مُحَمَّدِ بْنِ عَبْدِ اللَّهِ صَلَّى اللَّهُ عَلَيْهِ وَ آلِهِ

وَ كَلاَمُكَ النَّاطِقُ عَلَى لِسَانِ نَبِيِّكَ جَعَلْتَهُ هَادِياً مِنْكَ إِلَى خَلْقِكَ وَ حَبْلاً مُتَّصِلاً فِيمَا بَيْنَكَ وَ بَيْنَ عِبَادِكَ

اللَّهُمَّ إِنِّي نَشَرْتُ عَهْدَكَ وَ كِتَابَكَ اللَّهُمَّ فَاجْعَلْ نَظَرِي فِيهِ عِبَادَةً وَ قِرَاءَتِي فِيهِ فِكْراً وَ فِكْرِي فِيهِ اعْتِبَاراً

وَ اجْعَلْنِي مِمَّنِ اتَّعَظَ بِبَيَانِ مَوَاعِظِكَ فِيهِ وَ اجْتَنَبَ مَعَاصِيَكَ

وَ لاَ تَطْبَعْ عِنْدَ قِرَاءَتِي عَلَى سَمْعِي وَ لاَ تَجْعَلْ عَلَى بَصَرِي غِشَاوَةً

وَ لاَ تَجْعَلْ قِرَاءَتِي قِرَاءَةً لاَ تَدَبُّرَ فِيهَا بَلِ اجْعَلْنِي أَتَدَبَّرُ آيَاتِهِ وَ أَحْكَامَهُ آخِذاً بِشَرَائِعِ دِينِكَ

وَ لاَ تَجْعَلْ نَظَرِي فِيهِ غَفْلَةً وَ لاَ قِرَاءَتِي هَذَراً إِنَّكَ أَنْتَ الرَّءُوفُ الرَّحِيمُ” ये है कुरान पढ़ने से पहले की दुआ अरबी में.

आपको quran padhne se phle ki dua को वजू बनाकर पढ़नी है जब आप कुरान लेकर पढ़ने के लिए बैठ जायें; खासकर हाथों को जोड़कर यह दुआ पढ़े, और फिर कुरान पढ़ना शुरू करें.

ये भी पढ़ें:-

Quran padhne se pehle ki dua in hindi meaning 

Quran padhne se pehle ki dua in hindi meaning:- ” ऐ अल्लाह, मैं गवाही देता हूं कि यह आपकी कलाम है जो आपकी तरफ से आपके रसूल मुहम्मद इब्न अब्दुल्ला के पास भेजी गई थी, अल्लाह की दुआ और सूकून उसपर हो।

और आपके नबी की जुबान पर आपके शब्दों ने उन्हें आपकी ओर से आपकी दुनिया के लिए एक रहनुमा और आपके और मेरे बीच एक रस्सी बना दिया।

हे मेरे रब, मैंने तेरी अहद और तेरी किताब शायह (publish) की है।

और मुझे उन लोगों में से बनाओ जो आपके अहकाम को समझाकर खुतबा देते हैं और आपकी नाफरमानी से दूर रहते हैं. 

और जब मैं पढ़ूं तो मेरे सुनने पर छाप न लगाना, और न मेरी आंखों पर ओढ़ना. 

और मेरे पढ़ने को बिना गौर ना फिक्र किए सबक न बनाओ, और ना मुझे उसके आयातों और उसके नियमों पर ख्याल करने दो, लोगों को तुम से हटाकर. 

और मेरी ओर उस पर ध्यान न देना, और न ही मेरे पढ़ने की बकवास करना, क्योंकि तुम सबसे मेहरबान, सबसे मेहरबान हो.”

तो दोस्तों मैं उम्मीद करता हूं कि आप लोगों को आज की पोस्ट अच्छी लगी होगी और कुछ नया सीखने को मिला होगा; अगर हाँ, तो इस POST को अपने दोस्तों और परिवार के साथ जरूर SHARE करें. 

और हमारे इस WEBSITE को BOOKMARK कर ले ताकि आप सभी को इस्लाम से जुड़ी ऐसी ही POST मिलती रहे.

quransays.in

पिछला लेखSURAH YASEEN IN ARABIC
अगला लेखNAMAZ MEIN KITNE WAJIB HAIN
- Advertisement -spot_img

More articles

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisement -spot_img

Latest article