Namaz me padhne wali surah

Namaz me padhne wali surah बहुत सी है आप पूरे कुरान मजीद में मौजूद किसी भी. सूरह को चाहे वह छोटी हो या बड़ी हो इसे आप पढ़ सकते हैं।

लेकिन दोस्तों हर कोई पूरी कुरान मजीद की सूरह को याद नहीं कर पाता. हर किसी को यह तौफीक अल्लाह ने नहीं दी है; कि वह हाफिज ए कुरान बन सके।

सिर्फ हाफिज ए कुरान को ही तमाम सूरह याद होती है।

दोस्तों लेकिन हम एक बात जानते हैं कि नमाज में रकातो में सुरह पढ़ना जरूरी है; बिना इसके नमाज नहीं कबूल होगी तो ऐसे में जो हाफिज ए कुरान नहीं है वह नमाज कैसे पढ़ें।

तो आपको बता दें कुरान मजीद में ऐसी भी सूरह मौजूद हैं; जिनकी फजीलत बहुत ज़्यादी है और वह छोटी हैं।

जिसे आप याद कर सकते हैं और नमाज के दरमियान पढ़कर के इसाले सवाब हासिल कर सकते हैं।

आज कि इस पोस्ट में हम नमाज में पढ़ी जाने वाली छोटी सुरह के बारे में जानेंगे। (namaz me padhi jane wali choti surah)

Namaz me padhi jane wali 10 choti surah

दोस्तों हम आपको नमाज में पढ़ी जाने वाली 10 सबसे छोटी सूरह बता रहे हैं; इनमें से ज्यादातर के बारे में आप लोग जानते होंगे।

यह वह सुरह है जीनकी फजीलत बहुत ज़्यादी है यूं तो कुरान मजीद में लिखी हुई एक एक लफ्ज़ की फज़ीलत बहुत ज्यादी है।

लेकिन फिर भी कुछ सूरह जिन्हें हमें याद होनी ही चाहिए; जिससे हम नमाज पढ़ सकें उसे हम बता रहे हैं।

Namaz ki 10 choti surah (namaz me padhne wali surah)

सबसे छोटी और सबसे ज्यादा फजीलत वाली यह चार सुरह हैं; जिनको हमारे नबी आका ए मदीना मोहम्मदी मुस्तफा सल्लल्लाहो ताला अलेही वसल्लम ने पढ़ी।

इन 4 सुरतों को हमारे नबी हर वक्त पढ़ा करते थे और हमें इसे पढ़ने का हुक्म भी दिया।

उन्हें चार सूरतों को एक साथ चारो कुल कहा जाता है इसकी बहुत फजीलत है।

Charon kul padhne ke fayde

तो ये थी हमारी नमाज में पढ़ने वाली सुरह। (namaz me padhne wali surah) इसमें हमने सिर्फ चार बताएं है; आपको चलीए बाकी के 6 भी जान लेते हैं।

Namaz ki 10 choti surah (namaz me padhne wali surah)

तो यह हो गई नमाज में पढ़ी जाने वाली 10 सबसे छोटी सूरह आप इन्हें अपनी नमाजो में पढ़ें।

आप इन्हें आसानी से कुछ ही दिनों में याद कर सकते हैं।

तो चलिए अब हम इन सुरों के बारे में और कपिल से जानते हैं।

Namaz me padhne wali surah in hindi

दोस्तों हमने जो आपको ऊपर 10 औरतें बताएंगे हम उन्हीं सूरत ओं को हिंदी में आपको बता रहे हैं ताकि आपको इसे याद करने में और भी आसानी हो।

Note – हमने आपको अपनी पुरानी पोस्टों में भी बताया है, कि कुरान की सभी आयतें या सूरतें हमेशा अरबी अल्फाज़ में पढ़नी चाहिए; क्योंकि यह तमाम सूरतें अरबी अल्फ़ाज़ में ही नाजिल हूंइ।

हम आपको हिंदी में इसलिए बता रहे हैं ताकि आपको आसानी से याद हो जाए। लेकिन याद करने के बाद आप इन सुरतों को अरबी अल्फ़ाज़ में भी जरूर पढ़ लें।

Namaz ki niyat ka sahi tarika

शुरू करते हैं हम चारों कुल से।

सुरह काफिरून (Surah kafirun in hindi)

कुल-या अय्युहल-काफिरून ला अ

अबुदु मा तअबुदून

व ला अन्तुम् आबिदू-न मा अअबुद

व-ला अ-न-आबिदुम्-मा अबत्तुम् व-

ला अन्तुम् आबिदू-न मा अअ्बुद लकुम् दीनुकुम् व-लि-य दीन

Surah kafirun in hindi translation

कह दो, “ऐ काफिरों

मैं उसकी इबादत नहीं करता जिसकी तुम इबादत किया करते हो।

ना ही तुम इबादत करते हो उसे जिस्की मैं इबादत करता हूं।

और ना मैं इबादत करूंगा उसकी जिसकी तुम इबादत करते हो।

और ना तुम उसकी इबादत करने वाले हो जिसकी मैं इबादत कर रहा हूं।

तुम्हारे लिए तुम्हारा दीन है,और मेरे लिए मेरा दीन है।

सुरह इखलास (Surah ikhlas in hindi)

कुल हुवल लाहू अहद

अल्लाहुस समद

लम यलिद वलम यूलद

वलम यकूल लहू कुफुवन अहद

Surah ikhlas in hindi translation

आप कह दीजिये कि अल्लाह एक है

अल्लाह बेनियाज़ है

वो न किसी का बाप है न किसी का बेटा

और न कोई उस के बराबर है

सुरह फलक (Surah falaq in hindi)

कुल आ ऊजू बिरब्बिल फलक

मिन शर्री मा खलक़

वा मिन शर्री गासिकिन इजा वकब

वा मिन शर्रीन नाफ्फासाती फिल उकद

वा मिन शर्री हसिदिन इज़ा हसद

Surah falaq in hindi translation

कह दो ऐ बंदों की मैं सुबह को पैदा करने वाले परवरदिगार (रब) की कसम खता हूँ।

तमाम किस्म के मखलूखों के शर से।

और अंधेरे की बुराई से जब वह सुलझ जाए।

और गांठों में धौंकनी की बुराई से।

और जलने वाले की बुराई से जब वह जलन करे।

सुरह नास (Surah nas in hindi)

कुल आउज़ू बी रब्बिन्नास

मलिकिन – नास

इलाहिन – नास

मिन शर्रिल वास्वसिल खन्नास

अल – लजी युवास्विसू फी सुदुरिन्नास

मीनल जिन्नती वन्नास

Surah nas in hindi translation

आप कह दीजिए की मैं लोगों के पालनहार की पनाह में आता हूं

लोगों के मालिक की (और)

लोगों के माबूद की (पनाह में)

वस्वसा डालने वाले और पीछे हट जाने वाले के शर से

जो लोगों के दिलो में वस्वसा डालता है

चाहे वो इंसानों में से हो या जिन्नातों में स

सुरह मसद (surah masad in hindi)

तब्बत यदा अबी लहा बिंव वा तब्ब

मा अग्ना अन्हु मलुहू वामा कसाब

सयस्ला नारन ज़ा ता लहब।

वामरातुहू हम्मा लतल हतब।

फी जीदिहा हब्लुम मिम मसाद।

Eid milad un nabi ke din kya karna chahiye

Surah masad in hindi translation

अबू लहब के दोनो हाथ टूट गए और वो बरबाद हो गया।

उस का माल और सब कुछ जो उसने कमाया था उस के काम नहीं आया।

वो जहन्नुम की भड़कती हुई आग में जा गिरे गा।

उसकी बीवी जो सिर पर लकड़ियां और हाथ में ईधन उठाए फिरती है।

उसके गरदन में बटी हुई रस्सी पड़ी होगि।

सुरह अल कौसर (Surah al kausar in hindi)

इन्ना आतैना कल कौसर

फसल्ली लिरब्बिका वन हर

इन्ना शानियाका हुवल अब्तर

Surah al kausar in hindi translation

बेशक हमने आपको कौसर अता किया

बस अपने रब के लिए नमाज अदा करो और कुर्बानी करो

बेशक आपका दुश्मन ही बे नामो निशान होगा।

सुरह फील (surah feel in hindi)

अलम तरा कैफा फाअला रब्बुका बियस हाबिल फील

अलम यज़अल कै दाहुम फी तजलील

वा अर्सला अलैहिम तैरन अबाबील

तर्मीहिम बिही जारतिम में सिज्जील

फजा अलाहुम का सिफिम माकूल

Surah feel in hindi translation

क्या आप लोगों को यह नहीं आदिखा की आपके परवरदिगार ने हाथी वालों के साथ क्या हशर किया।

क्या अल्लाह ने उनकी साजिशों को धूल में उड़ाकर उन्हें नाकाम नहीं कर दिया।

और अल्लाह ने उनके खिलाफ परिंदों के झुंड के झुंड भेजे।

जो उन पर पकी हुई मिट्टी के पत्यर बरसाए।

और उन्हें गाय-बैल के खानेवाले की तरह कर डाला।

सुरह नस्र (surah nasr in hindi)

इज़ा जा आ नसरुल्ला ही वल फतह

वरा अयतन्नासा यदखुलूना फी दीनिल ल्लाही अफ़वाजा

फसब्बिह बिहमदी रब्बिका वस्तगफिरहू

इन्नहू काना तौव्वाबा

Surah nasr in hindi translation

जब अल्लाह की मदद और फतह आ गई।

और तुम लोगो ने अपनी आंखों से देख लिया कि इंसानों की फौज दर फौज अल्लाह ताला के दीन (इस्लाम) में दाखिल होती जा रही है।

तुम बस अपने परवरदिगार की तारीफ करो और उनसे रहम और मगफिरत दुआ मांगो।

बेशक अल्लाह पाक तुम्हारी तमाम तौबा कबूल फरमाएंगे।

सुरह अल माऊन (surah al maun)

अराएतल लजी यु कज्जीबू बिद्दिन

फजालीकल लजी यदु उल-यतीम

वला या हुद्दु अला ता-अमिल मिसकीन

फा वाई लुल-लिल मु सल्लीन

अल लजीना हुम अन सलातीहीम सहून

अल लजीना हुम युरा-उन

व यम ना ऊल मा-उन

Surah al maun in hindi translation

के नबी ए अकराम सल्लल्लाहो अलैही व आलीही वसल्लम क्या आपने देखा; उस शख्स को जो रोज़े क़यामत और दिन ए इस्लाम को झुठलाता है यानी (क़यामत के दिन को नहीं मानता)।

वही जो यतीमों को धक्के देता है, और जब की इस्लाम कहता है; कि यतीमों खाना खिलाओ और उनके सर पर प्यार से हाथ फेरों।

और गरीब और मीसकीनों को खाना नहीं खिलाता।

लानत हो हलाक़त हो उन नमाज़ियों के लिए,

जो अपनी नमाज़ों को भुला चुके हैं और नमाज़ों में गफलत करते हैं।

जो मुनाफीक हैं जो नमाज़ पढ़ते हैं, तो भी दिखावे के लिए।

और कोई भी छोटी मोटी चीज बरतने को नहीं देते जैसे चीनी, डेग हो गई, पलास, हथोड़ी नहीं देते।

सुरह कुरैश (surah quraish in hindi)

लि इलाफि क़ुरैश

इलाफ़िहिम रिहलतश शिताई वस सैफ़

फ़ल यअबुदू रब्बा हाज़ल बैत

अल्लज़ी अत अमाहुम मिन जुआ

व आमना हुम मिन खौफ़

Surah quraish in hindi translation

क़ुरैश के स्वभाव बनाने के कारण।

उनके जाड़े तथा गर्मी की यात्रा का स्वभाव बनाने के कारण।

उन्हें चाहिये कि इस घर (काबा) के आका की इबादत करें।

जिसने उन्हें भूख में खिलाया और डर से निडर कर दिया।

और यह हो गई हमारी आखिरी सुरह आप इन सूरतों को अच्छे से पढ़ कर याद कर ले; और नमाज के दरमियान इन सुरतों को पढ़ें।

Wazu kin cheezon se toot jata hai.

Namaz me padhne wali surah (Arabic)

  • सुरह काफिरून।
  • सुरह इखलास।
  • सुरह फलक।
  • सुरह नास।
  • सुरह मसद।
  • सुरह अल कौसर।
  • सुरह फील।
  • सुरह नस्र।
  • सुरह अल माऊन।
  • सुरह कुरैश।

Surah kafirun in arabic (namaz me padhne wali surah)

قُلْ يَٰٓأَيُّهَا ٱلْكَٰفِرُونَ

لَآ أَعْبُدُ مَا تَعْبُدُونَ

وَلَآ أَنتُمْ عَٰبِدُونَ مَآ أَعْبُدُ

وَلَآ أَنَا۠ عَابِدٌ مَّا عَبَدتُّمْ

وَلَآ أَنتُمْ عَٰبِدُونَ مَآ أَعْبُدُ

لَكُمْ دِينُكُمْ وَلِىَ دِينِ

Surah ikhlas in arabic (namaz me padhne wali surah)

قُلْ هُوَ ٱللَّهُ أَحَدٌ

ٱللَّهُ ٱلصَّمَدُ

لَمْ يَلِدْ وَلَمْ يُولَدْ

وَلَمْ يَكُن لَّهُۥ كُفُوًا أَحَدٌۢ

Surah falaq in arabic (namaz me padhne wali surah)

قُلْ أَعُوذُ بِرَبِّ ٱلْفَلَقِ

مِن شَرِّ مَا خَلَقَ

وَمِن شَرِّ غَاسِقٍ إِذَا وَقَبَ

وَمِن شَرِّ ٱلنَّفَّٰثَٰتِ فِى ٱلْعُقَدِ

وَمِن شَرِّ حَاسِدٍ إِذَا حَسَدَ

Surah nas in arabic (namaz me padhne wali surah)

قُلْ أَعُوذُ بِرَبِّ ٱلنَّاسِ

مَلِكِ ٱلنَّاسِ

إِلَٰهِ ٱلنَّاسِ

مِن شَرِّ ٱلْوَسْوَاسِ ٱلْخَنَّاسِ

ٱلَّذِى يُوَسْوِسُ فِى صُدُورِ ٱلنَّاسِ

مِنَ ٱلْجِنَّةِ وَٱلنَّاسِ

Surah masad in arabic (namaz me padhne wali surah)

تَبَّتْ يَدَآ أَبِى لَهَبٍ وَتَبَّ

مَآ أَغْنَىٰ عَنْهُ مَالُهُۥ وَمَا كَسَبَ

سَيَصْلَىٰ نَارًا ذَاتَ لَهَبٍ

وَٱمْرَأَتُهُۥ حَمَّالَةَ ٱلْحَطَبِ

فِى جِيدِهَا حَبْلٌ مِّن مَّسَدٍۭ

Surah al kausar in arabic (namaz me padhne wali surah)

إِنَّاۤ أَعۡطَیۡنَـٰكَ ٱلۡكَوۡثَرَ

فَصَلِّ لِرَبِّكَ وَٱنۡحَرۡ

إِنَّ شَانِئَكَ هُوَ ٱلۡأَبۡتَ

Surah feel in arabic (namaz me padhne wali surah)

أَلَمْ تَرَ كَيْفَ فَعَلَ رَبُّكَ بِأَصْحَٰبِ ٱلْفِيلِ

أَلَمْ يَجْعَلْ كَيْدَهُمْ فِى تَضْلِيلٍ

وَأَرْسَلَ عَلَيْهِمْ طَيْرًا أَبَابِيلَ

تَرْمِيهِم بِحِجَارَةٍ مِّن سِجِّيلٍ

فَجَعَلَهُمْ كَعَصْفٍ مَّأْكُولٍۭ

Surah nasr in arabic (namaz me padhne wali surah)

إِذَا جَآءَ نَصْرُ ٱللَّهِ وَٱلْفَتْحُ

وَرَأَيْتَ ٱلنَّاسَ يَدْخُلُونَ فِى دِينِ ٱللَّهِ أَفْوَاجً

فَسَبِّحْ بِحَمْدِ رَبِّكَ وَٱسْتَغْفِرْهُ ج إِنَّهُۥ كَانَ تَوَّابًۢا

Surah al maun in arabic (namaz me padhi jane wali 10 choti surah)

أَرَءَيْتَ ٱلَّذِى يُكَذِّبُ بِٱلدِّينِ

فَذَٰلِكَ ٱلَّذِى يَدُعُّ ٱلْيَتِيمَ

وَلَا يَحُضُّ عَلَىٰ طَعَامِ ٱلْمِسْكِينِ

فَوَيْلٌ لِّلْمُصَلِّينَ

ٱلَّذِينَ هُمْ عَن صَلَاتِهِمْ سَاهُونَ

ٱلَّذِينَ هُمْ يُرَآءُونَ

وَيَمْنَعُونَ ٱلْمَاعُونَ

Surah quraish in arabic (namaz ki surah)

لِاِيۡلٰفِ قُرَيۡشٍۙ

اٖلٰفِهِمۡ رِحۡلَةَ الشِّتَآءِ وَالصَّيۡفِ

فَلۡيَعۡبُدُوۡا رَبَّ هٰذَا الۡبَيۡتِۙ

الَّذِىۡۤ اَطۡعَمَهُمۡ مِّنۡ جُوۡعٍ

وَّاٰمَنَهُمۡ مِّنۡ خَوۡفٍ

यह हो गई हमारी सूरत है, अरबी में अरबी मैं इन सूरत और को पढ़ना जरूरी है।

Conclusion (निष्कर्ष)

तो यह थी हमारी आपकी पोस्ट इसमें हमने आपको उन चीजों के बारे में बताया…

Namaz me padhne wali surah. Namaz me padhi jane wali 10 choti surah.

जिन्हें हमने आपको तहसील से बताया उम्मीद करते हैं. आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी।

अगर आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई हो. तो आप इस पोस्ट को अपने दोस्तों और परिवार वालों के साथ शेयर करें।

ऐसे ही इस्लाम और इस्लाम से जुड़ी जानकारी पाने के लिए आप हमें बुकमार्क लें. और इस पोस्ट को व्हाट्सएप, फेसबुक पर शेयर जरूर करें।

Ye bhi padhe

अल्लाह हाफिज !!!

Quransays.in

4 thoughts on “Namaz me padhne wali surah”

Leave a Comment