Muharram ki fatiha ka tarika in hindi – मुहर्रम की फातिहा का तरीका हिन्दी में

Muharram ki fatiha ka tarika हमारे कई मुस्लमान जानना चाह रहे थे क्यूंकि मुहर्रम के महीने में फातिहा देना एक अफजल इबादत है.

मुहर्रम मुसलमानों का पहला महीना होता है और इस महीने को मुस्लमान नए साल की शकल में मनाते हैं, और इस महीने नफिल नमाज़ पढकर और आशुरा का रोज़ा रखकर ढेरों सवाब हासिल करते हैं.

लेकिन काफी कम लोगों को मुहर्रम की फातिहा का तरीका नहीं पता होता और वह इसाले सवाब हासिल नहीं कर पाते.

आपको छोटी से छोटी और बडी से बडी फजीलतें हासिल होती रहें इसलिए आज हम आपको मुहर्रम की फातिहा से जुडी इन बातों की मालूमात देंगे –

  • Muharram ki fatiha ka tarika
  • Muharram ki fatiha mein kya padhe?
  • Muharram ki fatiha kab hai 2022?
  • Muharram ki fatiha kab di jati hai?
  • Muharram ki fatiha kiske naam se hoti hai?

Muharram ki fatiha karne ka tarika

Muharram ki fatiha karne ka tarika यह है कि आप पहले दरूद शरीफ का विर्द करें, कुरान की चंद सुरतें, आयतों की तिलावत कर के आखिर में दरुद शरीफ पढकर इसाले सवाब करें.

अब तक आपको मुहर्रम की फातिहा कि बेसिक समझ में आ गया होगा, आइए अब हम muharram ki fatiha ka tarika तफ़सील से जान लेते हैं.

Muharram ki fatiha ka tarika in hindi

  • सबसे पहले वज़ु करें और किसी पाक जगह जानेमाज़ बिछा कर फातिहा का समान रख दें।
  • अब जानेमाज़ पर बैठकर फातिहा करना शुरु करें और बिस्मिल्लाह पढें।
  • बिस्मिल्लाह के बाद एक बार दरूद ए इब्राहिम पढें।
  • फिर एक बार सुरह काफिरून पढें।
  • उसके बाद तीन बार सुरह इखलास पढें।
  • सुरह इखलास के बाद एक मर्तबा सुरह फलक और नास पढें।
  • और फिर आखिर में एक मर्तबा दरुद ए इब्राहिम पढकर इसाले सवाब के लिए दुआ करें।

यहां आपकी फातिहा मुकम्मल होती है. यह सबसे आसान तरीका है, मुहर्रम की फातिहा का आप इन सुरतों, आयतों के अलावा भी और चीज़ें पढ सकते हैं.

Muharram ki fatiha me kya padhe?

आप इन चीजों को मुहर्रम की फातिहा करते वक्त पढ सकते हें –

इनके अलावा भी अगर आपको कोई और सुरह या अयत याद हो तो आप उन्हें भी पडें.

Muharram ki fatiha kab hai 2022?

Muharram ki fatiha 2022 mein 7 और 8 तारीख को है लेकिन आप मुहर्रम के पूरे महीने में कभी भी फातिहा कर सकते हैं लेकिन 9 – 10 muharram ka fatiha जरूर करें.

नीचे हमने एक table बनाया है जिसको देख कर आप समझ जाएंगे कि मुहर्रम के महीने में किस किस दिन फातिहा देना अफजल माना जाता है.

SERIAL NO. FATIHA DATEENG. DATE
105 मुहर्रम।04 अगस्त।
207 मुहर्रम।06 अगस्त।
309 मुहर्रम।08 अगस्त।
410 मुहर्रम।09 अगस्त।
512 मुहर्रम।11 अगस्त।
Muharram ki fatiha kab hai 2022?

Muharram ki fatiha kab di jati hai?

ज्यादातर मुसलमान मुहर्रम की फातिहा मुहर्रम उल हराम की 9 और 10 तारीख को दी जाती है, 9 मुहर्रम की शाम को फातिहा दी जाती है वहीं 10 मुहर्रम की सुबह फातिहा दी जाती है.

ये भी पढ़ें

Muharram ki fatiha kiske naam se hoti hai?

Muharram ki fatiha kiske naam se hoti hai? मोहर्रम की फातिहा इमाम हुसैन और शोहदा ए कर्बला पर देते हैं, लेकिन आप मुहर्रम की फातिहा नबी सल्लल्लाहू अलैही वसल्लम से लेकर तमाम सहाबा ए किराम पर दें.

ये भी पढ़ें

Muharram me fatiha isale sawab ka tarika

जब आप मुहर्रम की फातिहा करते वक्त तमाम सुरतों, आयतों और दुआओं को पढ़ लें; तो आखिर में आप इसाले सवाब सवाब के लिए दुआ करें और दुआ करने के बाद आपका फातिहा मुकम्मल हो जाएगा.

या अल्लाह हमने तेरी कलाम की चंद सूरतें, आयतें और दुआएं पढीं बेशक इसमें बेशुमार गलतियां हुई हैं; या अल्लाह अपने हबीब के सदके तुफैल में और अपने रहमत और फज़ल ओ करम से इन गलतियों को माफ फरमा आमीन !!!

ऐ मेरे रब इन सुरतों को पढ़ने का सवाब सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम, तमाम नबी और सहाबा ए किराम को पहुंचा दे आमीन !!!

या अल्लाह हमारे जरिए इस कलाम को पढ़ने का सवाब आदम अलैहिस्सलाम से लेकर आज तक जितने भी मोमिन – मोमिनात इस दुनिया से रुखसत फरमा चुके हैं, उनको पहुंचा दें आमीन !!!

या अल्लाह बिलखुशुश – बिलखुशुश इस फातिहा करने का सवाब और इन सुरतों को पढ़ने का सवाब इमाम हुसैन और तमाम शोहदा ए कर्बला के सामने पेश करते हैं, मौला कबूल फरमा आमीन !!!

आज आपने क्या जाना?

ये पोस्ट आपको नीचे लिखे चीन पर गहराई में समझाती है…..

  • Muharram ki fatiha ka tarika
  • Muharram ki fatiha mein kya padhe?
  • Muharram ki fatiha kab hai 2022?
  • Muharram ki fatiha kab di jati hai?
  • Muharram ki fatiha kiske naam se hoti hai?

उम्मीद करते हैं ! कि आपको हमारी आज की ये पोस्ट पसंद आई होगी और कुछ नया सीखने को मिला होगा. अगर हाँ, तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें.

और सोशल मीडिया जैसे whatsapp, facebook, और instagram पर भी जरूर शेयर करें अल्लाह हाफिज !!!

Quransays.in

Leave a Comment