वर्डप्रेस डेटाबेस की खराबी: [INSERT, UPDATE command denied to user 'u344271253_quransays'@'127.0.0.1' for table 'wp_options']
INSERT INTO `wp_options` (`option_name`, `option_value`, `autoload`) VALUES ('_transient_doing_cron', '1669292167.6473820209503173828125', 'yes') ON DUPLICATE KEY UPDATE `option_name` = VALUES(`option_name`), `option_value` = VALUES(`option_value`), `autoload` = VALUES(`autoload`)

Jumme ke din padhne ki surah surah - जुम्मे के दिन पढने की सुरह

Jumme ke din padhne ki surah surah

Jumma ke din padhne ki surah पढ़ना जुमे के दिन कि जाने वाली इबादतों में सबसे अफजल है; लेकिन काफी कम लोगों को jumme ke din ki surah की सही मालूमात नहीं होती.

दोस्तों हदीसों आता है, जुमे का दिन हफ्ते का सबसे अफजल दिन होता है; इस दिन अल्लाह की खास रहमतें दुनिया पर बरस रही होती हैं और इस दिन की गई इबादतें और मांगी गई दुआएं कबूल होते हैं.

Jumme ke din padhne ki surah

Jume ke din padhne ki surah में सबसे खास और अफजल सुरत, सुरह कहफ है; इस सुरह को जुम्मे के दिन पढ़ने से दज्जाल के फितने से हिफाजत होती है.

दोस्तों कहफ अपने आप में ही बड़ी फजीलत और अहमियत रखता है, हमारे नबी सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम ने सुरह कहफ और सुरह जुमा को जुम्मे के दिन पढ़ने का हुक्म दिया.

इसलिए हमें जुमे के दिन सूरह जुमा और सुरह कहफ को जरूर से पढ़ना चाहिए.

लेकिन इसके अलावा भी चंद और खास और बा-बरकत सुरतें हैं, जिन्हें हमें जुम्मे के दिन में पढ़नी चाहिए आइए उन्हें भी जान लेते हैं.

Jumme ke din ki padhne wali surah

Jumme ke din ki padhne wali surah काफी ज्यादा है, लेकिन नीचे लिखे हुए सुरतों को पढ़ना सबसे अफजल माना जाता है.

दोस्तों यह चंद सूरतें काफी आला हैं, इन्हें आप जुम्मे के दिन जरूर से पढ़ें साथ-ही-साथ आप आयतुल कुर्सी का और दरूद शरीफ का भी विर्द करें.

Jumme ke din ki surah

Jumme ke din ki surah surah kahf और surah juma है, जिसे आप जुमे की नमाज़ पढने से पहले और बाद में पढ सकते हैं.

सुरह कहफ की फजीलत काफी ज्यादा है, जिसे जुमे के दिन पढना सबसे ज्यादा अफजल और मुस्ताहब है

आज आपने क्या जाना?

दोस्तों आज हमने jumme ke din padhne wali surat के बारे में जाना जिसनको पढ़ने से हमें काफी सवाब औेर फजीलत हासिल होगा.

हमें उम्मीद है ! कि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी होगी. आप से गुजारिश है, कि आप इस पोस्ट को अपने व्हाट्सएप, फेसबुक पर शेयर जरूर करें अल्लाह हाफिज !!!

Quransays.in

Leave a Comment