Har farz namaz ke baad ki dua in hindi – Farz namaz ke baad ki dua hindi mein

0
41

Har farz namaz ke baad ki dua पढ़ना जरूरी होता है; क्योंकि हमारे नबी सल्लल्लाहो अलेही वसल्लम नमाज के बाद Farz namaz ke baad ki dua पढ़ते थे और ऐसा करना हमारे लिए सुन्नत है.

यूं तो namaz ke baad ki dua काफी सारी होती हैं, लेकिन फर्ज नमाज के बाद की दुआ का पढ़ना सबसे ज्यादा जरूरी और अफजल होता है; लेकिन ज्यादातर लोग इन दुआओं को नहीं पढ़ते और इन दुआओं की रहमत और बरकत से मेहरूम रह जाते हैं.

आपको बता दें हर नमाज के बाद की दुआ और सुन्नत नमाज़ के बाद की दुआएं भी होती है; लेकिन इन्हें पढ़ना उतना ज्यादा जरूरी नहीं है, जितना की farz namaz ke baad padhne ki dua का होता है.

Har farz namaz ke baad ki dua in hindi

Har farz namaz ke baad ki dua की बात करें तो इसमें सबसे पहले आयतुल कुर्सी शामिल होती है; आयतुल कुर्सी को हर फर्ज नमाज के बाद पढ़ना सबसे अफजल माना जाता है, इसे हमारे नबी भी पढ़ा करते थे और हमारे नबी ने फरमाया कि जो शख्स फर्ज नमाज के बाद आयतुल कुर्सी पढेगा उसे जन्नत नसीब होगी.

हम सभी जन्नत जाने की तमन्ना रखते हैं, और अल्लाह से दुआ करते हैं, कि अल्लाह हमें जन्नत में दाखिल करवा दें; जिसके लिए हमें अपने अच्छे आमाल इकट्ठा करने होते हैं, जिसमें सबसे बड़ी इबादत और आमाल नमाज़ों की पाबंदी शामिल होती है.

ऐसे में हर फर्ज नमाज के बाद आयतल कुर्सी जो कि कुरान मजीद की सबसे बड़ी आयत है; और कुरान-ए-पाक की सबसे ताकतवर आयतों मैं शामिल है, इसे पढ़ने से हम जन्नत हासिल कर सकते हैं.

जुमे का बयान जरूर जानें। –

Farz namaz ke baad ki dua

  • नमाज़ के बाद की दुआ अल्लाहुम्मा अंतस्सलाम।
  • नमाज़ के बाद की दुआ आयतुल कुर्सी।
  • फ़र्ज़ नमाज़ पढ़ने के बाद की दुआ रब्बिग फिर वर-हम।
  • नमाज़ के बाद की दुआ अल्लाहुम्म अजिरनि मिनन्नारि।

नमाज़ के बाद की दुआ अल्लाहुम्मा अंतस्सलाम।

नमाज के बाद पढ़ी जाने वाली यह दुआ सबसे अफजल है, इस दुआ को पढ़ने के लिए हदीस शरीफ में आया है; और इस खास दुआ को आप फर्ज नमाज के बाद जरूर पढ़ें इसकी बरकत काफी ज्यादा है, और इससे आपको काफी सवाब मिलेगा.

दुआ। - अल्लाहुम्मा अंतस्सलाम व मिनकस्लासम तबारकत या ज़लज़लाली वल इकराम। 
दुआ तर्जुमा। - ए अल्लाह तू सलामती वाला है, और तेरी तरफ ही सलामती है, तू बा-बरकत है, ए बुजुर्गी और इज्जत वाले। 

पंचों वक्त की नमाज पढने का सही तरीका। –

नमाज़ के बाद की दुआ आयतुल कुर्सी।

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया है, कि आयतुल कुर्सी कुरान मजीद की सबसे ताकतवर और बड़ी आयत है; इस आयत की फजीलत का आप इस बात से अंदाजा लगा लें कि इसको पढ़ने से जन्नत नसीब होती है, और अगर घर से इस आयत को पढ़कर निकला जाए तो इस की फजीलत से आप हर परेशानियों बुराइयों से महफ़ूज़ रहते हैं.

आयतुल कुर्सी। -
  1. अल्लाहु ला इलाहा इल्ला हुवल-हय्युल क़य्यूम
  2. ला ताखुदु सिनतुन वला नौम
  3. लहू माफ़िस समावाती वमा फ़िल-अरज़
  4. मन ज़ल्लदी यसफ़उ इंदहू इल्ला बि-इज़निही
  5. यालुम मा बैना ऐदीहिम वमा ख़लफ़हुम
  6. वला युहीतून बि शय्यिन मिन इल्मिही इल्ला बिमा शाअ
  7. वसिया कुरसियुहुस समावाती वल-अरद
  8. वला ययुदुहु हिफ़ज़ुहुमा
  9. वहुवा अलिय्युल अज़ीम

फ़र्ज़ नमाज़ पढ़ने के बाद की दुआ रब्बिग फिर वर-हम।

यह दुआ बेहद ही खास है, इस दुआ के तर्जुमा से आप समझ सकते हैं; कि इस दुआ में हम अपने रब अल्लाह से अपने गुनाहों की माफी मांग रहे हैं, और हम पर रहम फरमा ने की दुआ कर रहे हैं.

यह दुआ बेहद ही छोटी है, यानी आप इसे आसानी से याद कर सकते हैं; और अपनी नमाज़ों को अदा करने के बाद इस दुआ को पढ़ सकते हैं.

दुआ। - रब्बिग फिर वर-हम व्-अन-त खैरूराहिमिन।
दुआ तर्जुमा - ऐ मेरे अल्लाह हमारे तमाम गुनाहो को माफ़ फरमा दे और हमारे हाल पर रहम फरमा और तू तमाम रहम करने वालों से बेहतर रहम करने वाला है। 

नमाज़ के बाद की दुआ अल्लाहुम्म अजिरनि मिनन्नारि।

यह दुआ बेहद ही मकसूस है, यह दुआ हर मुसलमान को याद होनी चाहिए और इस दुआ को हमें अपनी तमाम दुआओं में मांगना चाहिए इस दुआ में हम अपने रब से जहन्नम की आग और जहन्नम से आजादी की दुआ मांगते हैं.

दुआ - अल्लाहुम्म अजिरनि मिनन्नारि।
दुआ तर्जुमा। - ऐ अल्लाह नजात दे मुझे जहन्नम के आग से। 

जैसा कि हमने आपको पहले भी बताया है, कि आप इस दुआ को ज्यादा से ज्यादा पढ़े; लेकिन आप कम से कम इस दुआ को 10 से 15 मर्तबा तो जरूर से पढें।

आज आपने क्या जाना?

तो दोस्तों यह थी हमारी आज की पोस्ट इस पोस्ट में हमने आपको farz namaz ke baad ki dua in hindi me और आसान लफ्जों में तफसील से बताने की कोशिश की है; ताकि आपको इन दुआओं को जानने और समझने में कुछ तकलीफ ना हो और अपनी नमाजो को पढ़ने के बाद इन दुआओं को पढ़कर हजारों सवाब हासिल कर सकें.

हमें उम्मीद है ! आपको आपके तमाम सवालों के जवाब मिल गए होंगे और आपको हमारी यह पोस्ट पसंद आई होगी; अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो आप इसे अपने व्हाट्सएप फेसबुक में शेयर जरूर करें.

बाकी आपको यह पोस्ट कैसी लगी और आप हमें क्या सलाह देना चाहते हैं, कमेंट में जरूर बताएं? अल्लाह हाफिज !!!

Quransays.in

Leave A Reply

Please enter your comment!
Please enter your name here