Buri nazar se bachne ki dua

Buri nazar se bachne ki dua या nazar ki dua in hindi काफी ज्यादा जरूरी समझते हैं लोग; और समझना भी चाहिए क्योंकि हमारे नबी सल्लल्लाहो-त-आला-अलेही-वसल्लम भी; अल्लाह से बुरी नजर की पनाह मांगते थे अल-हसन और अल-हुसैन के लिए. 

और बिल्कुल उसी तरह हमें भी बुरी नजर से बच के रहना चाहिए; क्योंकि अगर किसी की नजर लग जाती है तो काफी ज्यादा मुश्किलातों का सामना करना पड़ सकता है; एक बात याद रखें कि बुरी नजर सिर्फ इंसान की ही नहीं शैतान की भी होती है. 

जाने कि अगर कोई इंसान ज्यादा खूबसूरत है, लंबा, मोटा, अमीर, बड़ा आदमी है; तो उसे इंसानों की बुरी नजर लगती है बुरी नजर वाले कहते हैं कि देखो कितना अमीर है, कितना लंबा है, कितना बड़ा आदमी है; जिससे सामने वाले को बुरी नजर लग जाती है और इसी से बचने के लिए हम Buri nazar se bachne ki dua या nazar ki dua in hindi पढ़कर अल्लाह से इन सब का निजात मांगते हैं. 

और हां, एक बात और ध्यान में रखना चाहिए कि शैतानों की नजर भी अच्छे लोगों पर लगती है; यानी कि अगर हम अल्लाह की राह पर काफी ज्यादा लोगों की मदद करते हैं, रोजा रखते हैं, नमाज पढ़ते हैं, जकात अदा करते हैं; तो शैतान हमें भड़काने की कोशिश करता है और ऐसे में कई लोग बहक कर बुरी नजर के शिकार हो जाते हैं; लेकिन अल्लाह अपने अच्छे बंदों की हमेशा हिफाजत करता है, और शैतान से से बचा कर रखता है. 

दोस्तों हमारा यह सब बताने का केवल एक ही मकसद था कि; आपको अल्लाह की ताकत का अंदाजा लगे कि अल्लाह अपने अच्छे बंदों की हिफाजत हमेशा करता है; और ऐसे में Buri nazar se bachne ki dua या nazar ki dua in hindi पड़कर बुरी नजर से बचा जा सकता है. 

Buri nazar se bachne ki dua in hindi (nazar ki dua in hindi) 

दोस्तों अभी तक हमने जाना कि बुरी नजर से बचना क्यों जरूरी; और यह भी जाना कि हम मुसलमानों को किसी भी बुरी नजर से डरने की कोई जरूरत नहीं है. 

क्योंकि हम अपने अल्लाह के बंदे हैं और अल्लाह अपने अच्छे बंदों की हिफाजत उनके पनाह मांगने से पहले ही कर देता है; अल्लाह-हू-अकबर (कहिए). 

पर ऐसे में अगर हम nazar ki dua पढ़ते हैं तो हम पर इंसान की बुरी नजर तो क्या शैतान की बुरी नजर तक नहीं पड सकती; और ना ही कुछ बिगाड़ सकती है सच्चे मुसलमानों का. तो चलिए जानते हैं कि आखिर कौन सी दुआ है जो हमें बुरी नजर से बचाती है

ये भी पढ़ें:-

#1. Buri nazar se bachne ki dua in hindi

“आऊज़ु बिकालिमातिल्लाहीत ताम्माह वा मीन कुल्ली शयतानीव वा हाम्माह वा मीन कुल्ली अयनील आम्माह “

दोस्तों जो आप ऊपर लिखी हुई तो वह देख रहे हैं वही है बुरी नजर से बचने की दुआ; आप इसे तब पढ़ सकते हैं जब आपको लगे कि आप पर किसी की बुरी नजर है या आपकी कोई तरक्की से जल रहा है. 

ऊपर लिखी दुआ इतनी ताकतवर है की यह दुआ आपको शैतान से भी बचा सकते हैं; बशर्ते आप अल्लाह के नेक और सच्चे बंदे हों, और आपका इमाम पहाड़ से भी मजबूत हो. 

#2. Buri nazar se bachne ki dua in arabic text

मैंने आपको हर एक पोस्ट में कहा है कि हम मुसलमानों का अरबी सीखना काफी जरूरी है; इसलिए हम आपको अरबी सीखने के लिए कहते हैं. तो चलिए Buri nazar se bachne ki dua in arabic text भी देख लेते हैं. 

أَعُوذُ بِكَلِمَاتِ اللَّهِ التَّامَّةِ مِنْ كُلِّ شَيْطَانٍ وَهَامَّةٍ وَمِنْ كُلِّ عَيْنٍ لامَّةٍ

दोस्तों जो ऊपर लिखी दुआ है आप उसे पर कर किसी भी बुरी नजर से बच सकते हैं. 

#3. Buri nazar se bachne ki dua meaning in hindi 

“मैं पनाह माँगता हूँ अल्लाह की पूरे इस कलिमात से हर शैतान से और हर काली परछाई से और हर नुकसान पहुंचाने वाली वो चीज से”

दोस्तों, मैंने आपको हर पोस्ट में कहा है कि हर उस दुआ का मतलब हमें जानना जरूरी है जो हम पढ़ते हैं; क्योंकि हमारा जब फर्ज बनता है कि जो दुआ हम पढ़ रहे हैं वह कहना क्या चाहते हैं. 

और वैसे ही हमारा बुरी नजर से बचने की दुआ का तर्जुमा भी जानना काफी जरूरी था; जो मैंने आपको ऊपर बता दिया है, आप से गुजारिश है कि आप इसका तर्जुमा याद रखें. 

#4. Buri nazar se bachne ki dua in english

हमारे बीच कई ऐसे लोग हैं जिन्हें हिंदी भी पढ़नी नहीं आती या उन्हें पढ़ने में तकलीफ होती है; इसलिए हमने उनके लिए भी बुरी नजर से बचने की दुआ को अंग्रेजी में लिख दिया है, वह भी इन्हें पढ़ लें. 

“Aawuzu bikalimatillahit-tammah min kulli shaytaaniw wa hammah wamin kulli aynil Aammah” 

तो दोस्तों हमने यहां तक buri nazar se bachne ki dua in hindi या nazar ki dua in hindi देखी; लेकिन हमारा यह भी जानना जरूरी है कि हम बुरी नजर से बचने की दुआ कहां-कहां पड़ सकते हैं या कहां हमें पढ़नी चाहिए. 

इसे भी जान लेते हैं……

ये भी पढ़ें:-

Buri nazar se bachne ki dua in hindi kab padhna chahiye?

हमें बुरी नजर से बचने की दुआ नीचे लिखे वक्त में पढ़नी चाहिए….. 

  • जब आपकी तरक्की से कोई जले आपके बारे में बुरा-भला बोले. 
  • जब आप कोई अच्छा काम करें और कोई दूसरा आदमी आपके काम को गलत ठहराए. 
  • जब आप अल्लाह की राह पर अच्छा काम करें और आपको कुछ गलत या बुरी शक्ति का एहसास हो; तो आप बुरी नजर से बचने की दुआ पढ़नी हैं. 
  • अगर आपके आसपास गंदी नियत वाले इंसान हो और आपको लेकर कि वह आपको नजर लगा सकते हैं; तब आपको य़ह दुआ पढ़नी है.
  • जब आप अच्छा काम करें और फिर भी आपके साथ पूरा हो; तो समझ जाओ कि शैतान आपको भड़काने की कोशिश कर रहा है और नजर लगाने की, तब आपको यह दुआ पढ़नी है. 
  • जब आपका नमाज या कुरान पढ़ने का मन तो करें पर आप जा ना पाए; इसका मतलब कि आप पर शैतान की नजर है, तब भी आप यह दुआ पढ़े और नमाज या कुरान पढ़ने को जाएँ. 
  • और भी कई सारे…….. 

तो दोस्तों मैंने आपको ऊपर जितने भी पॉइंट बताएं, उन सभी जगहों पर आप नजर से बचने की दुआ पढ़ सकते हैं; आपको एक बात और ऐसी कई सारे और जगह हैं जहां पर आपको ये दुआ पढ़ना चाहिए.

“ऊपर लिखे सभी पॉइंट में यह चीज आम है कि नजर से बचने की दुआ पढ़ने के काफी सारे फायदे हैं; अल्लाह हमे हर किस्म की बुरी और गंदी नजरों से बचाता है.” 

आपको एक बात और याद रखना चाहिए कि अगर आप अल्लाह के नेक और सच्चे बंदे हैं और आप का इमान पहाड़ से भी ज्यादा मजबूत है; तो आपको इस दुआ को पढ़ने की कोई जरूरत है जो क्योंकि अल्लाह आपकी हिफाजत वैसे भी बखूब करेगा

अल्लाह हमे नेक और सच्चा बंदा बनने की तौफीक अता फरमाए. 

आमीन! आमीन! 

Nazar ki dua ki hadees

मुझे यकीन है कि आप लोग को या पोस्ट काफी पसंद आ रही होगी; आपको इससे जुड़ी हदीस और सल्लल्लाहो-त-आला-अलेही-वसल्लम के बारे में भी जानने की ख्वाहिश होगी; चलिए इसके बारे में भी जान लेते हैं….. 

ये भी पढ़ें:-

Buri nazar ki dua ki hadees

नीचे हदीस की कुछ लाइन है जो दर्शाती है कि हमारे हुजूर पाक (ﷺ) अल्लाह से बुरी नजर की पनाह मांगते थे; हसन और हुसैन (रज़ि अल्लाह अनहा) के लिए.

इब्न-ए-अब्बास से रिवायत है कि हुजूर मुहम्मद-सल्लल्लाहो-त-आला-अलेही-वसल्लम अल्लाह से अल-हुसैन और अल-हसन; के लिए बुरी नजर से हिफाजत के लिए पनाह माँगा करते थे; और उनसे यह कहा करते थे कि “तुम्हारे बुजुर्ग दादा हुजूर इब्राहीम अलैहि अस्सलाम भी इस्माइल और ईशाक (अलैहि अस्सलाम) के लिए भी इसी दुआ के जरिए अल्लाह से बुरी नजर की पनाह मांगते थे.”


तो दोस्तों आप से भी हमारी यह इरतिजा है; कि आप भी अल्लाह से बुरी नजर की पनाह मांगने के लिए इस दुआ को पढ़ें; ताकि आप पर भी अल्लाह का रहम हो. 

और उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह Post अच्छा लगा; अगर अच्छा लगा तो इसे अपने दोस्तों और घर वालों के भी Share करें-ताकि उन्हें भी अल्लाह का रहम नसीब हो. आमीन! आमीन! 

और रोजाना ऐसी ही इस्लामिक जानकारियों से भरी POST पाने के लिए हमारे इस WEBSITE को BOOKMARK कर लें. 

अल्लाह हाफि !!!!! 

quransays.in 

Leave a Comment