Bakrid Ke Din Kya Karna Chahiye? – बकरीद के दिन क्या करना चाहिए?

Bakrid ke din kya karna chahiye? ये जानना बहुत जरूर है क्यूंकि बकरीद की शान बहुत बड़ी है. इस दिन लोग अल्लाह की राह में कुर्बानी देते हैं और ढेर सारा सवाब पाते हैं, और मालदार लोग इस महीने सऊदी जाकर हज की पाक इबादत मे शामिल होते हैं. और जो हज को नहीं जा पाते वो अपने देश ही रहकर कुर्बानी देते हैं सुन्नतों पर अमल करते हैं. 

तो चलिए इसी बात पर मैं आपको Bakrid ke din kya karna chahiye? बताने वाला हूं ताकि आपको भी बकरीद के दिन का पूरा सवाब मिल सके. और हाँ जो मैं आपको bakrid me kya karna chahiye बताने वाला हूं उसे आपको बेशक अपनाना है ताकि आप बकरीद अच्छे से मना पाए और ढेर सारा सवाब पायें.

Bakrid ke din kya karna chahiye?

इसका जवाब तो हम सभी जानते हैं कि हर वो काम हमें करने चाहिए जो अल्लाह और उसके रसूल को पसंद हो. यानी कि कुछ काम ऐसे भी हैं जो सुन्नत है लेकिन कुछ काम ऐसे हैं यह हमें करना जरूरी है ताकि उससे हमें ज्यादा सवाब मिले.

आपको नीचे लिखे काम करने है……….

  • पाक होकर लिबास पहन लें और इत्र लगायें. 
  • बकरीद की नमाज़ को जाएं. 
  • बकरीद की नमाज को जाते वक्त की तकबीर (दुआ) पढ़ें.
  • नमाज से आकर क़ुरबानी दें. 
  • क़ुरबानी के गोश्त को 3 हिस्सों में बाटें.
  • गरीबों में पैसे, कपड़े, खाने-पीने के सामान बांटे. 
  • सभी लोगों को बकरीद मुबारक कहें.
  • पड़ोसियों और रिश्तेदारों के यहाँ जाएं; और उन्हें अपने यहाँ दावत दें. 
  • सभी दोस्तों, पड़ोसियों और रिश्तेदारों के यहां पकवान बाटें. 
  • अच्छे-अच्छे पकवान बनाएं और जिनके यहां कुर्बानी नहीं हुई उन्हें पकवान दें, उनके घर जाकर.
  • अपने घरों को सजाएं. 
  • बच्चों में ईदी बाटें. 

ये भी पढ़ें:-

आइए अब आपको detail मे बताते हैं Bakrid ke din kya karna chahiye? जिसे आप bakrid me kya karna chahiye? से search करते हैं. 

#1. पाक होकर लिबास पहन लें और इत्र लगायें.

बकरीद के दिन आपको सुबह जल्दी उठकर पाक होना है यानी नहाना-धोना है, फिर उसके बाद नमाज़ के लिए लिबास पहनना है जो पाक हो. नए कपड़े पहने, अगर ना हो तो उम्दा, साफ़ और पाक कपड़े पहने. लेकिन नमाज के लिए कुर्ता पहने फिर इत्र लगाकर नमाज़ को जायें.

#2. बकरीद की नमाज़ को जायें और जाते वक्त की तकबीर पढ़ें.

पाक साफ होकर नमाज़ को निकल जाएं और नमाज को जाने के लिए जल्दी करें, और नमाज को जाते वक्त बकरीद की नमाज की तकबीर जरूर पढ़ें. और नमाज पढ़ने के बाद वापस आते वक्त उस रास्ते से ना आए जिस रास्ते से आप नमाज को गए हो.

और जो भी रास्ते में मिले आपको उसे ईद मुबारक कहना है और अगर किसी के यहां कुर्बानी हो रही हो तो उसकी मदद करना है. ईद और बकरीद की नमाज पढ़ने के बाद दूसरे रास्ते से आना प्यारे नबी की सुन्नत है.

#3. नमाज से आकर क़ुरबानी दें और क़ुरबानी के गोश्त को 3 हिस्सों में बाटें.

बकरीद की नमाज पढ़कर आने के बाद आपको जल्द से जल्द कुर्बानी देनी है क्योंकि कुर्बानी जल्द-से-जल्द देनी चाहिए और सुबह-सुबह. कुर्बानी देने के बाद आपको गोश्त को तीन हिस्सों में बांटना है. जिसमें पहला हिस्सा गरीब के लिए, दूसरा हिस्सा पड़ोसी और रिश्तेदारों के लिए और तीसरा हिस्सा अपने घर के लिए.

और अगर आप ये जानना चाह रहे थे कि bakrid ke din kya karna chahiye aur kya nahi karna chahiye तो बकरीद के दिन कुर्बानी देना सबसे जरूरी काम है बशर्ते आप कुर्बानी देने लायक हों. 

हज से पहले नमाज़ पढने का सही तरीका जरूर जानें।

#4. गरीबों में पैसे, कपड़े, खाने-पीने के सामान बांटे.

अब आपको गरीबों में पैसे, कपड़े या खाने-पीने के सामान बांटने है क्योंकि गरीबों के पास इतना पैसा नहीं होता कि वह कुर्बानी दे पाए या अपनी बकरीद अच्छे से मना पाए. और हो सके तो उन्हें कुछ पकवान भी दे दे जो आपके यहां बने हैं. 

इस्लाम में गरीबों का हक बहुत बड़ा माना जाता है इसलिए इस्लाम में जकात देना फर्ज है. 

#5. सभी लोगों को बकरीद मुबारक कहें.

जैसे हम लोगों को उनके जन्मदिन और शादी के सालगिरह की बधाइयां देते हैं उसी तरह हमें ईद और बकरीद की भी बधाइयां देनी चाहिए. लोगों को मुबारकबाद देना इस्लाम का एक अहम पहलू है. इसलिए हम लोगों को बकरीद मुबारक कह कर उनके साथ खुशियां मनाते हैं और उन्हें यह बताते हैं कि हम तुम्हारे खुशी में भी साथ हैं और दुख में भी साथ रहेंगे. 

इस तरह सभी के साथ प्यार बनाए रखें, सलाम-दुआ का साथ कभी ना छोड़ें.

Bakrid me kya karna chahiye के जवाब में ये जानना बहुत जरूरी है कि आपको सभी को ईद मुबारक या बकरीद मुबारक कहना है.

बकरीद के बारे में और जाने।

#6. पड़ोसियों और रिश्तेदारों के यहाँ जाएं; और उन्हें अपने यहाँ दावत दें.

जैसा मैंने इसके पहले वाले पॉइंट में कहा कि हमने सभी के साथ खुशियां बांटनी है और प्यार भी बनाए रखना है. इसलिए आपको अपने पड़ोसियों और रिश्तेदारों को खुशी के वक्त नहीं भूलना है और उनके यहां जाना है और उन्हें अपने यहां दावत भी देनी है.

हमें अपनी खुशी में इतना मगन नहीं हो जाना है कि जिनके यहां बकरीद में कुर्बानी नहीं हुई उनके यहां हम जाए नहीं. जी नहीं आप उनके हां बिल्कुल जाना है और उनके लिए कुछ लेकर जाना है जैसे कुर्बानी का हिस्सा और पकवान.

यानी कि हमें अपने दोस्तों, रिश्तेदारों और पड़ोसियों के यहां पकवान और कुर्बानी का हिस्सा बाँटना है (जिनके यहां कुर्बानी नहीं हुई है) और उनके साथ बकरीद खुशी-खुशी मनानी है.

#7. अच्छे-अच्छे पकवान बनाएं

बकरीद के दिन आपको अच्छे-अच्छे पकवान बनाने हैं जैसे गोश्त के आइटम, सेवईं, आदि. क्योंकि अच्छे-अच्छे पकवान बनाना खुशियां मनाने के लिए बहुत जरूरी है. और अपने दोस्तों यारों और रिश्तेदारों पड़ोसियों को भी दावत पर बुलाए ताकि आप सभी एक साथ इस पाक त्योहार को मनाए. 

#8. अपने घरों को सजाएं.

बकरीद के पाक त्यौहार पर आपको अपना घर तो सजाना ही हैं क्यूंकि bakrid ke din kya karna chahiye में ये बात बेशक जरूरी है कि आप अपने घरों को सजाएं और अगर आपका घर पाक-साफ नहीं होगा तो फरिश्ते आपके घर में नहीं आएंगे और आपको बरकत नसीब नहीं होगी.

#9. बच्चों में ईदी बाटें.

अगर आप अपने रिश्तेदारों या दोस्तों या पड़ोसियों के यहां जा रहे हैं तो आपको उनके यहां मौजूद बच्चों को ईदी देनी है. मेरी पैसा भी हो सकती है और या कोई गिफ्ट भी हो सकता है. 

ईद मिलने पर बच्चे बहुत खुश हो जाते हैं जिससे अल्लाह हमसे खुश हो जाता है. तो इसलिए हमने इसे भी bakrid ke din kya karna chahiye के ज़वाब में शामिल किया है.

उम्मीद करते हैं कि आपको हमारी आज की जानकारी से भरी यह पोस्ट पसंद आई होगी जिसमें हमने Bakrid ke din kya karna chahiye? और Bakrid me kya karna chahiye पर बात की.

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई तो इससे सोशल मीडिया जैसे फेसबुक, व्हाट्सएप और इंस्टाग्राम पर जरूर शेयर करें ताकि सभी लोगों को पता चल जाए कि बकरीद के दिन क्या करना चाहिए.

ये भी पढ़ें:-

और हमारे वेबसाइट को बुकमार्क कर ले ताकि इस्लाम से रिलेटेड ऐसी ही जानकारी आपको रोजाना मिलती रहे.

quransays.in

Leave a Comment