AYATUL KURSI KI FAZILAT HINDI ME

Ayatul kursi ki fazilat in hindi या कहें ayatul kursi ke fayde हम आपको बताएंगे क्यूंकि; इस आयत को हमारे नबी ने कुरान मजीद की सबसे ताकतवर आयत का खिताब दिया है.

इस बात से तो आप अंदाजा लगा ही सकते हैं, कि इस आयत की फजीलत कितनी ज़्यादा है; और इस आयत को हमारे नबी कसरत से पढ़ा करते थे.

इस अज़ीम ओ शान आयत की फज़लतें हदीसों में खूब बयान की गई हैं; ayatul kursi ki fazilat in hindi में हम आपको आयतुल कुर्सी से जुड़ी हदीसें भी बताएंगे.

Ayatul kursi in hindi mein

  • अल्लाहु ला इलाहा इल्लाहू अल हय्युल क़य्यूम ला तअ’खुज़ुहू.
  • सिनतुव वला नौम लहू मा फिस सामावाति वमा फ़िल अर्ज़.
  • मन ज़ल लज़ी यश फ़ऊ इन्दहू इल्ला बि इजनिह.
  • यअलमु मा बैना अयदी हिम.
  • वमा खल्फहुम वला युहीतूना बिशय इम मिन इल्मिही इल्ला बिमा शाअआ.
  • वसिअ कुरसिय्यु हुस समावति वल अर्ज़ वला यऊ दुहू हिफ़हुमा.
  • वहुवल अलिय्युल अज़ीम.

Ye bhi padhe…

Ayatul kursi ki fazilat in hadith

हमें एक हदीस शरीफ से यह मालूम चला कि जो शख्स रात को सोने से पहले आयतुल कुर्सी की तिलावत करता है; तो उस शख्स के पास शैतान नहीं आता क्योंकि शैतान ने यह इकरार किया है, कि जो शख्स आयतुल कुर्सी पड़ता है, मैं उसके पास नहीं जाता.

Ayatul kursi ki fazilat in hindi

दोस्तों आयतल कुर्सी कुरान मजीद की सबसे बड़ी और ताकतवर आयत है; और यह सूरह बकरा में मौजूद है, और हम सब सूरह बकरा की फजीलत से वाकिफ है.

यूं तो पूरे सूरह बकरा की फजीलतें काफी ज्यादा है; लेकिन उसमें आयतुल कुर्सी के फजीलतें काफी आला मानी जाती है.

कहा जाता है, आयतुल कुर्सी हर तरीके की परेशानी, मुश्किलात टेंशन, डर, हिफाजत के लिए काफी है.

सच बताएं तो आयतुल कुर्सी की फजीलत कोई इंसान बयान नहीं कर सकता; लेकिन हदीसों से जो फायदे हमें जानने को मिले हैं, वह हम आपको बता रहे हैं.

चारों कुल पढने के फायदे जानकर आप हैरान हो जाएंगे.

Ayatul kursi padhne ke fayde

Ayatul kursi padhne ke fayde तो बहुत से हैं, लेकिन जो मोटे – मोटे फायदे हैं, वह यह हैं; जिन्हें हम आगे तफसील से जानेंगे.

  • रात में शैतान, चोर से माल और दौलत की हिफाज़त.
  • दिन में दुनियावी मुश्किलातों से हिफाज़त.
  • कुरान ए पाक की सबसे अफजल और आला आयत है.
  • दुश्मन का खौफ (डर) दूर हो जाएगा.
  • जन्नत में जाना नसीब होगा.
  • बुरी नज़र, काला जादू वगैरह से हिफाजत.
  • रिज़्क में बरकत होगी.
  • मौत आसान होगी.
  • घर से बाहर निकलते वक्त हर बलाओं, परेशानियों से हिफाजत.
  • इबादत का सवाब कई गुना बढ़ जाएगा.

रात में शैतान, चोर से माल और दौलत की हिफाज़त

आज हम सब दुनिया में मेहनत करते हैं, माल और दौलत हासिल करते हैं; लेकिन जब इस्माल को कोई चोर डकैत चोरी कर लेता है, तो आपकी और हमारी मेहनत पानी में मिल जाती है.

ऐसे में हदीसों में आया है, अगर कोई शख्स रात को सोने से पहले आयतुल कुर्सी की तिलावत कर ले; तो रात भर अल्लाह उसके माल और उसको शैतान और तमाम चोर, डकैत से हिफाजत अता फरमाएगा.

यह एक छोटा सा अमल है, इसे तो हर किसी को करना ही चाहिए.

दिन में दुनियावी मुश्किलातों से हिफाज़त

जिस तरह रात में चोरों, डकैतों का डर होता है, ठीक उसी तरह दिन के उजाले में भी बहुत से बुराई; और हादसे होने का डर होता है, जिससे बचने के लिए आयतुल कुर्सी पढ़ने का हुक्म दिया गया है.

सुरह मुल्क पढने के 5 फायदे.

कुरान ए पाक की सबसे अफजल और आला आयत है

आयतुल कुर्सी कुरान मजीद की सबसे बड़ी, आला और ताकतवर आयत है; जिसे हमारे नबी ने सहाबा ए कराम को अक्सर बताया करते थे.

इस आयात का हर मुसलमान को याद होना जरुरी है.

नमाज़ पढ़ने का सही तरीका जरूर जानें.

दुश्मन का खौफ (डर) दूर हो जाएगा

आज लोगों के अंदर इतनी जलन और हसद भरी हुई है, कि वह एक दूसरे के दुश्मन बने बैठे हैं; कोई किसी के माल का दुश्मन है, तो कहीं कोई किसी के जान का दुश्मन.

इस सुरत ए हाल हाल में हर किसी को अपनी जान और अपने माल के खोने का डर लगा रहता है; लेकिन सच्चे ईमान वाले को इन दुश्मनों से डरने की कोई जरूरत नहीं

आप किसी भी हाल में फंसे हैं, जहां से आपको कुछ समझ नहीं आ रहा क्या करें और आप परेशान हैं; तो अतुल कुर्सी आयतुल कुर्सी पढें अल्लाह आपकी हिफाजत फरमाएगा.

जन्नत में जाना नसीब होगा

जन्नत में कौन नहीं जाना चाहता, हर कोई जन्नत जाने की तमन्ना रखता है, जिसके लिए वह इस्लाम के बताए हुए रास्ते पर चलता है; ऐसे में अगर आप अपनी तमाम फर्ज नमाजों के बाद आयतुल कुर्सी पढ़ लेंगे तो आप जन्नत के हकदार हो जाएंगे.

यह फज़ीलत कई हदीसों से साबित है.

मस्जिद में नमाज अदा करने का सही तरीका.

बुरी नज़र, काला जादू वगैरह से हिफाजत

ऐसा बहुत आम हो गया है, कि लोगों को आए दिन बुरी नजर लग जाती है, किसी को उसके हुस्न की वजह से; तो किसी को उसके माल और दौलत की वजह से तो किसी को उसकी सेहत की वजह से.

ऐसे में बुरी नजर से बचना हो तो आयतुल कुर्सी की तिलावत करते रहें; और हमेशा अपने जबान को अल्लाह के जिक्र और इबादत से तर रखें.

वैसे अगर किसी को बुरी नजर लगी है; और उसे शिफा नहीं मिल रही वह उस नजर को उतार नहीं पा रहा; तो नजर से बचने की दुआ पढे.

रिज़्क में बरकत होगी – ayatul kursi ke fayde

हमारे बीच ऐसे बहुत से लोग मौजूद हैं, जो मेहनत तो बहुत कर रहे हैं, लेकिन उन्हें रिज़्क नहीं हासिल हो रही; और जो हासिल हो रही है, उस में बरकत नहीं हो रही तो ऐसे हालात में आप आयतुल कुर्सी का विर्द जरुर करें.

मौत आसान होगी – ayatul kursi ki fazilat in hindi

मौत पर हक है, मौत तो आनी ही है लेकिन जब मौत आती है तो रूह निकलने में काफी परेशानी होती है; ऐसे में अगर कोई शख्स आयतुल कुर्सी की तिलावत करता रहता है, तो उसकी मौत आसान हो जाती है.

जब किसी का इंतकाल होने वाला हो तो उस वक्त सुरह यासीन पढ़ना अफजल माना जाता है.

घर से बाहर निकलते वक्त हर बलाओं, परेशानियों से हिफाजत

हदीसों से मालूम हुआ कि अगर कोई शख्स रोज घर से बाहर निकलने से पहले एक मर्तबा आयतुल कुर्सी पड़ता है; तो अल्लाह एक फरिश्ता उसकी इबादत के लिए दिन भर के लिए लगा देता है.

वही जब दो बार आयतुल कुर्सी पढता है, तो उसके लिए अल्लाह दो फरिश्ते लगा देता है; लेकिन जब तीन बार कोई शख्स आयतुल कुर्सी पढता है, तो अल्लाह फरिश्तों से फरमाता है, कि इसकी हिफाज़त में करूंगा.

नमाज़ में पढने वाली 10 छोटी सूरह.

इबादत का सवाब कई गुना बढ़ जाएगा

दोस्तों हम सब यह तो जानते हैं कि वज़ु करना एक इबादत है, और इस इबादत में चार चांद तब लग जाते हैं; जब कोई शख्स वजू करने के बाद आयतुल कुर्सी पढ़ ले.

आपको बता दें वज़ु के बाद की दुआ पढने के बाद अगर कोई शख्स दिल से आयतुल कुर्सी पढ ले; तो उसको 40 साल इबादत करने का सवाब अल्लाह देगा.

शबे मेराज की नमाज का तरीका.

Ayatul kursi ki fazilat in hindi pdf download

Ayatul kursi ki fazilat in hindi pdf free download का link हमने आपके लिए नीचे दे दिया है; आप वहाँ से इसका pdf भी डाउनलोड कर सकते हैं…

Ayatul kursi kab padhe

आयतुल कुर्सी बेहद ही अजमत, बरकत और रहमत वाली आयत है, इसे आप कभी भी कहीं भी पढ़ सकते हैं; लेकिन कुछ खास वक्त पर इसे पढ़ने का हुक्म हमें हदीसों से मालूम पड़ता है, वह यह हैं.

  • हरहर फर्ज नमाज के बाद.
  • घर से बाहर निकलते वक्त.
  • घर में आते वक्त.
  • सोने से पहले. सफर के दौरान.
  • बिमार होने पर.

आज आपने क्या जाना (Conclusion)

तो दोस्तों की थी हमारी आशिकी पोस्ट ayatul kursi की fazilat in hindi; जिसमें हमने आयतल कुर्सी की फजीलत और फायदे और इस आयत की अहमियत और शान को जाना.

यह आयत बहुत ताकतवर आयत है, हर मुसलमान को ये आयत याद होनी चाहिए; और इस आयत पर अमल करना चाहिए जिससे उन्हें दीन और दुनिया दोनों में कामयाबी और तरक्की हासिल हो.

उम्मीद है, आपको आपके तमाम सवालों के जवाब मिल गए होंगे और आपको यह पोस्ट पसंद आई होगी; अगर आपको यह पोस्ट पसंद आई हो तो आप इस पोस्ट को अपने व्हाट्सएप, फेसबुक पर शेयर जरूर करें.

आपको यह पोस्ट कैसी लगी और आप हमें क्या सलाह देना चाहते हैं; कमेंट में जरूर बताएं अल्लाह हाफिज

Quransays.in

2 thoughts on “AYATUL KURSI KI FAZILAT HINDI ME”

Leave a Comment